• April to June 2024 Article ID: NSS8606 Impact Factor:8.05 Cite Score:467 Download: 29 DOI: https://doi.org/ View PDf

    सामाजिक सरोकार: मीडिया की दशा और दिशा

      डॉ.राम सिंह सैन
        सहायक आचार्य (हिंदी) राजकीय महाविद्यालय चैथ का बरवाड़ा, सवाई माधोपुर (राज.)
  • प्रस्तावना- आज समाज में चारों ओर मीडिया के बदलते चरित्र के सम्बन्ध में चिन्ता प्रकट की जात है। विशेषरूप से पश्चिम का अनुकरण करने वाले अंग्रेजी मीडिया पर चिन्ता ज्यादा है। यह कहा जाता है कि स्वतंत्रता संग्राम के दिनों में पत्रकारिता का जो मिशनरी चरित्र था आज उसका विलोपन हो गया है लेकिन इस बात को समझ लेना  चाहिए कि उन दिनों सैकड़ों लोग पत्रकारिता के माध्यम से जन-जागरण, स्वतंत्रता की प्रबल आकांक्षा जाग्रत करने के अलावा ह्दय को आंदोलित भी करते है। ऐसे सुधारकों और नेताओं में पहला नाम आता है राजाराम मोहनराय का। उन्होंने अंग्रेजी  अंग्रेजी, बंगाली और फारसी की पत्रिकाएं निकाली। हरिश्चन्द मुखर्जी ने ’’हिन्दू पैट्रिएट के नाम से पत्रिका निकाली।